चुनाव आते ही याद आए आदिवासीः 12 जातियों को जनजाति में शामिल किए जाने पर फुल ऑन सियासत, मंत्री डहरिया बोले- श्रेय लेने BJP कर रही राजनीति, चुनाव में दिख जाएगा…

रायपुर. छत्तीसगढ़ की सियासत में आदिवासी मुद्दा गरमाया हुआ है. भाजपा और कांग्रेस के बीच 12 जातियों को जनजाति वर्ग में शामिल करने को लेकर श्रेय लेने की राजनीति चल रही है. वहीं दूसरा मुद्दा बस्तर में भाजपा नेताओं की सुरक्षा से जुड़ा है. भाजपा के आदिवासी नेताओं और पूर्व विधायकों का आरोप है कि, उनकी सुरक्षा में कटौती कर दी गई है. इन आरोपों पर भूपेश सरकार में कैबिनेट मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने भाजपा पर तीखा हमला बोला है.

12 जातियों को जनजाति में शामिल किए जाने के मामले में बोले मंत्री डहरिया ने कहा, भाजपा के पास कोई मुद्दा नहीं है. 15 साल के कार्यकाल में रमन सरकार ने क्यों पहल नहीं की. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में क्यों नहीं सुधार हुआ. भूपेश सरकार की पहल के बाद केंद्र सरकार जागी. भूपेश सरकार ने संकल्प पारित किया था. श्रेय लेने के नाम भाजपा राजनीति कर रही है. चुनाव में दिख जाएगा आदिवासी वर्ग किसके साथ है.

बस्तर में बीजेपी नेताओं की सुरक्षा पर उठे सवाल पर मंत्री शिवकुमार डहरिया ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा, बस्तर में नेताओं की सुरक्षा में कोई कटौती नहीं की गई है. बस्तर में हालात रमन सरकार के समय से कहीं बेहतर है. भाजपा धर्मांतरण के नाम पर राजनीति कर रही है. भाजपा के सभी नेताओं को सुरक्षा दी गई है. सुरक्षा चाहिए तो सरकार से मांग करें, राज्यपाल से मिलकर राजनीति न करें.

छतीसगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक 
English में खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Leave a Comment