पॉवर गॉशिप: भैंस चोरों से परेशान मंत्री जी.. गाय चर गई 40 लाख..’अधिकारी नहीं सुनते मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा’.. रडार पर ठेकेदार..चर्चा जोरों पर है..

भैंस चोरों से परेशान मंत्री जी

ग्वालियर-चंबल से आने वाले एक मंत्री जी अपने इलाके में भैंस चोरी से परेशान हो गए, लगातार भैंस चोरी की मिलने वाली शिकायत के बाद मंत्री जी ने इलाके के एसपी साहब को फोन लगाया और सीधा कहा ये रुकवाओ नहीं तो ये मुद्दा चुनाव में गड़बड़ कर देगा…..अब देखना है मंत्री जी के फोन के बाद एसपी साहब क्या कार्रवाई करते है क्योंकि भैंस चोरी का ये खेल “पनिहाई ” इलाके में लंबे समय चला आ रहा है।

गाय चर गई 40 लाख

ये अजीब मामला राजधानी भोपाल से लगे जिले का है। जहां गौशालाओं में रहने वाली गायों के चारे के लिए साल भर में 40 लाख रुपए की राशि जारी कर दी गई है। पंचायत के मद से अलग-अलग किस्तों में राशि जारी हुई है। राशि जारी होने के बाद कई बार गौशाला और वहां रहने वाली गायों का निरीक्षण हुआ, लेकिन संयोग ऐसा रहा कि जब भी मौके पर निरीक्षण दल पहुंचा गौशाला में एक भी गाय नहीं मिली। हर बार एक ही कारण बताया गया कि गाय चरने के लिए गई हैं। मौके पर पूरी खानापूर्ति होती रही और राशि जारी होती रही। अब गौशाला संचालक और अफसरों की उलझन यह है कि शिकायत सीएम हाउस तक पहुंच गई है। आपको बता दें इस जिले में कहावत बड़ी मशहूर है। ऊपर किला नीचे जिला इस जिले को कुछ ना मिला।

पॉवर गॉशिप: ठगा गए मंत्रीजी…निशाने पर नेताजी…हाथ तो आया पर मुंह न लगा…आग में भी आहुति…अफसरों ने लिख दी अध्यक्ष की टीप…चर्चा जोरों पर है…

‘अधिकारी नहीं सुनते मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा’

बीजेपी के एक नेता जी अपने ही सरकार में अधिकारियों से परेशान हैं और इतने परेशान है की मंत्री को धमकी दे डाली अगर ऐसा ही चलता रहा तो इस बार भी कांग्रेसी दिग्गज नेता से सीट छीनना नामुमकिन है….. दरअसल नेता जी इस बात से परेशान है की अधिकारी उनकी सुनवाई नहीं करते और इसके उलट बीजेपी सरकार होते हुए कांग्रेस के विधायक की सुनवाई करते हैं और इलाके में उन्हीं के कहने पर सब कुछ हो रहा है अब मंत्री जी भी क्या करते हैं क्योंकि इलाके के अधिकारी की नियुक्ति महाराज के कहने पर हुई है नेताजी की बात सुनकर मंत्री जी मुस्कुराते रहें और इधर-उधर की बात करते रहे…. चलते-चलते थोड़ी नेताजी की पहचान भी बता देते हैं नेताजी पिछले चुनाव में कांग्रेस के दिग्गज नेता के सामने मामूली अंतर से चुनाव हारे हैं और ग्वालियर चंबल से आते हैं।

पॉवर गॉशिप: नेताजी की पप्पी…लूप लाइन की खुशी…चार्ज पर बवाल…नेताजी नाराज हैं…पार्टी में ’45 समूहों का कच्चा’, ‘एक का कील सहित पक्का’…चर्चा जोरों पर है…

रडार पर ठेकेदार

सत्ता से जुड़े पांच पीएचई के ठेकेदार केंद्रीय जांच एजेंसी के राडार पर हैं, ये पांचों वो ठेकेदार है जिन पर सरकार की बहुत मेहरबानी रही और अभी तक है. पांचो को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का नोटिस मिल गया है. इन पांचो ने सत्ता से जुड़ी नई इमारत को गढ़ने में अपना भरपूर दिया.उसके बाद जब इन्हें नोटिस मिले तो पांचो के मुंह लाल पीले है… पांचो अपने अपने आकाओ से बोल रहे हैं इतना करने के बाद भी ये नतीजा है. अब एक परेशानी और भी है आका मुँह भी खोले तो किस मुँह से उसे खुद को समझ नहीं आ रहा किया क्या जाये… लेकिंन दिल्ली से बार बार आने वाले बड़े साहब नजरें इन पांचों पर पड़ी हुई है… मौसम उमस भरा चल रहा है… पांचों इस उम्मीद में है सकून की कोई हवा चले…ताकि सब पहले जैसा हो जाए…

चर्चा जोरों पर है

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के प्रभारी जे पी अग्रवाल के बदले जाने की चर्चा जोरों पर है , बताया जा रह है कि जेपी अग्रवाल से कांग्रेस के साहब खफा है और उन्होंने चुनाव से पहले हटाने के लिए केंद्रीय नेतृत्व को कहा भी था, जे पी अग्रवाल मध्य प्रदेश में कांग्रेस के पुराने कल्चर की तरह अलग से बैठकें और नेताओं से मुलाकत कर रहे थे, साहब की आपत्ति के बाद पिछले तीन महीने से मध्य प्रदेश में उनकी एंट्री भी नाम मात्र की हो गई थी, अब चर्चा जोरों पर है कि मध्यप्रदेश के नए प्रभारी के तौर पर साहब की पसंद के राहुल गांधी के करीबी नेता को जिम्मेदारी दी जा सकती है।

पॉवर गॉसिप: खतरे में अफसरों के आशियाने…मंत्री का विदेश दौरा चर्चाओं में…तबादलों ने बढ़ाई टेंशन…कमलनाथ के मुरीद कमल वाले…मीडिया विभाग में मीडिया वॉर…चर्चा जोरों पर है…

(सुधीर दंडोतिया की कलम से)

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Leave a Comment