प्राचार्य की मनमानी ! एक साल फेल हुए बच्चों को दो साल फेल बताकर थमा दी TC, विद्यार्थियों और पालकों ने कलेक्टर से लगाई गुहार

नारायणपुर. जिले में एक साल फेल हुए बच्चों को दो साल फेल बताकर स्कूल से निकालने का मामला सामने आया है. जिला मुख्यालय से 45 किलोमीटर दूर ग्राम छोटेडोंगर के स्वामी आत्मानंद विद्यालय के प्राचार्य की मनमानी सामने आई है. प्राचार्य ने कक्षा 9वीं व 10वीं में 1 साल फेल हुए छात्रों को 2 साल फेल बताकर जबरन TC थमा दिया.

इस पर छात्रों का कहना है कि वह सिर्फ एक बार फेल हुए हैं, लेकिन दो बार फेल बताकर 10 बच्चों को टीसी दे दिया गया है. इसके अलावा करीब 40 बच्चे और फेल हुए हैं जिन्हें टीसी देने की बात कही जा रही है. वो भी शिक्षा सत्र चालू होने के 1 मनीने बाद. अब बच्चों को दूसरे स्कूल में एडमिशन भी नहीं मिल रहा है. रेगुलर पढ़ाई करने की मांग और फिर से दाखिला दिलाने की मांग लेकर छात्र अपने परिजनों के साथ नारायणपुर कलेक्टर के पास गुहार लगाने पहुंचे. जिसके बाद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने भी कलेक्टर से बच्चों को वापस एडमिशन देने और प्राचार्य पर कार्रवाई करने की मांग की.

पालक मनमोहन का कहना है कि बिना कुछ जानकारी दिए बच्चों को निकाल दिया गया है. अब बीच सत्र में निकाले जाने की वजह से दूसरे स्कूलों में एडमिशन नहीं हो रहा है. जून में टीसी देते तो दूसरा स्कूल मिल भी सकता था, लेकिन लगभग पूरा जुलाई निकल गया है, अब टीसी दे रहे हैं जिससे बच्चों की पढ़ाई में दिक्कत होगी. वहीं एक छात्र ने बताया कि प्राचार्य से पूछने पर उन्होंने कहा कि शासन से आदेश है इसलिए 1 साल फेल हुए बच्चों को भी निकालना पड़ रहा है.

1 साल फेल हुए बच्चों को नहीं निकाला जा सकता – डीईओ

जिला शिक्षा अधिकारी का कहना है कि 1 साल फेल हुए छात्रों को नहीं निकाला जा सकता. जो लगातार 2 साल फेल हुए हैं उन्हीं छात्रों को निकाला गया है. ग्रामीणों के माध्यम से मामला संज्ञान में आया है. उन्होंने कहा कि स्कूल के प्राचार्य से बात करने पर उन्होंने बताया कि दो-तीन बच्चें ऐसे हैं जो एक साल फेल हुए हैं और उन्होंने खुद टीसी मांगी है. इस पर डीईओ ने कहा कि मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी.

Leave a Comment