मणिपुर के साथ स्मृति ईरानी के छत्तीसगढ़ का जिक्र करने पर सीएम बघेल को आपत्ति, कहा- यह ध्यान भटकाने के लिए है, दोनों राज्य की घटनाओं की नहीं हो सकती तुलना…

नेहा केसरवानी, रायपुर। मणिपुर के मामले में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का छत्तीसगढ़ का जिक्र बार-बार किए जाने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि यह ध्यान भटकाने के लिए है. छत्तीसगढ़ में जो घटना घटी है, उसकी कोई तुलना मणिपुर की घटना से नहीं की जा सकती है.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि मणिपुर के साथ छत्तीसगढ़ का जिक्र जानबूझकर किया जा रहा है. जो इलेक्शन गोइंग स्टेट है, उसका नाम लेने के पीछे उद्देश यही है कि एक तीर से दो निशाना लगाया जाए, लेकिन वो असफल हैं. प्रधानमंत्री भी यही कर रहे थे, राजस्थान और छत्तीसगढ़ का नाम लिए थे. मणिपुर में डबल इंजन की सरकार है, लेकिन 99 दिन हो गया है उसमें वो कुछ कर नहीं पा रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि ह्यूमन राइट ग्रुप मणिपुर नहीं जा रहा बल्कि छत्तीसगढ़ आ रहा है. उनका यहां स्वागत है, लेकिन वो मणिपुर तो जाए. दूसरी बात यह है कि केंद्र सरकार वीडियो वायरल करने वाले को खोज रही है, तो यह गलत दिशा में प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बीस सांसद आज मणिपुर रवाना हुए हैं. लोकसभा-राज्यसभा दोनों बाधित है. प्रधानमंत्री को हठधर्मिता छोड़कर लोकसभा और राज्यसभा दोनों में जवाब देना चाहिए.

बीजेपी की नई टीम पर साधा निशाना

बीजेपी की नई टीम पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि अभी तो कार्यकारिणी में धरम लाल कौशिक को भी थोड़े दिन पहले लिए थे. चुनाव को देखते हुए इन लोगों का कद थोड़ा बढ़ाया गया है. लता उसेंडी भी डॉक्टर रमन सिंह के मंत्रिमंडल में रही हैं, सरोज पांडे की अपनी पहचान है.

और

छत्तीसगढ की किसी घटना की तुलना मणिपुर से नहीं की जा सकती है,

Leave a Comment