संभागायुक्त कावरे ने ली समीक्षा बैठक, छुट्टी के दिन सहकारी बैंक और समिति खोलने के निर्देश, किसानों से की फसल बीमा कराने की अपील

दुर्ग. संभागायुक्त महादेव कावरे ने आज खाद, बीज उपलब्धता, वर्षा की स्थिति, भंडारण वितरण, गोधन न्याय योजना अंतर्गत गोबर विक्रताओं को भुगतान के संबंध में समीक्षा बैठक की. बैठक में आरके राठौर, संयुक्त संचालक कृषि, मुकेश ध्रुव, संयुक्त पंजीयक सहकारी संस्था उपस्थित थे.

संभागायुक्त ने वर्षा की वर्तमान स्थिति मे संबंध में चर्चा की जिसमें संभाग में सबसे कम बेमेतरा जिले में 67.03 प्रतिशत वर्षा होना बताया. शेष जिला में वर्षा की स्थिति विगत 10 वर्षाें की सामान्य वर्षा की तुलना में औसत दर्ज की गई है. वर्षा की स्थिति को देखते हुए कम वर्षा वाले क्षेत्रों में फसल के लिए विशेष कार्य योजना बनाए जाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए गए.

वर्तमान में फसल के स्थिति के समीक्षा के दौरान उपस्थित अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि संभाग में खरीफ वर्ष 2023 में 1026970 हेक्टेयर क्षेत्र में बुवाई हुई है, जो 92.11 प्रतिशत है. इसमें धान में 102.51 प्रतिशत एवं अरहर के 78.67 प्रतिशत बुआई किया जाना बताया गया.

संभागायुक्त कावरे ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा के दौरान बताया कि फसल बीमा योजना की अधिसूचना जारी हो चुकी है, जिसकी अंतिम तिथि 31 जुलाई है. इसके लिए जिले के ऋणी एवं अऋणी कृषक निकटतम जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक एवं सहकारी समिति व व्यवसायिक बैंकों में जाकर अपने फसल का बीमा करा सकते हैं. अधिकारी राठौर ने अवगत कराया कि जो किसान बीमा के लिए आवेदन करना चाहते हैं ऐसे कृषक बोनी प्रमाण पत्र एवं निर्धारित प्रपत्र में जानकारी के साथ आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं. इस प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की समस्या होने पर ग्रामीण कृषि विकास विस्तार अधिकारी एवं अन्य अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं.

संभागायुक्त ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि शनिवार (दिनांक 29.07.2023) एवं रविवार (दिनांक 30.07.2023) को अवकाश के दिनों में भी सहकारी बैंक एवं समिति आवश्यक रूप से खुले रहे, जिससे कि कृषक फसल का अनिवार्य रूप से बीमा करवाकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अंतर्गत लाभांवित हो सके.

खाद, बीज प्रर्याप्त मात्रा में रहे उपलब्ध

संभागायुक्त ने खाद, बीज, रसायनिक उर्वरक उपलब्धता की जानकारी ली, जिस पर संभाग में बीज के 202245 क्विंटल भंडारण के विरुद्ध 193740 क्विंटल (89ः) वितरण किया जाना बताया गया. इसी प्रकार रसायनिक उर्वरक में भंडारण 368804 मिट्रिक टन भंडारण के विरुद्ध 313016 मिट्रिक टन (87ः) वितरण किया गया है. संभागायुक्त कावरे ने खाद, बीज उत्पादन एवं वितरण की समय-समय पर जांच करने के निर्देश अधिकारियों को दिए. बताया गया कि संभाग अंतर्गत राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ तहसील अंतर्गत रसायनिक उर्वरकों का बिना वैध लाइसेंस के मिलावटी खाद बनाते हुए पाए जाने पर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की गई.

Leave a Comment