सिहावा से निकलकर सोमवार को राजिम और तुरतुरिया पहुंचेगा ‘राम पथ से राम वन’ का रथ

रायपुर. जगदलपुर, चित्रकोट और सिहावा के बाद माय एफएम और छत्तीसगढ़ शासन की ओर से आयोजित पहल ” राम पथ से राम वन ” का रथ सोमवार की सुबह राजिम और तुरतुरिया पहुंचेगा. भगवान श्रीराम ने उनके वनवास का अधिकतर वक्त छत्तीसगढ़ के वनों में गुजारा है और इस पहल के तहत जहां-जहां भगवान श्री राम, माता सीता और लक्षमण जी ने भ्रमण किया था उस जगह जाकर माय एफएम की टीम वहां की मिट्टी एकत्रित कर उन मिट्टी से चंदखुरी स्थित माता कौशल्या मंदिर में वृक्षारोपण करेगी. उन सभी जगहों पर पहुंचकर माय एफएम की टीम इस पहल के लिए लोगों को जागरुक कर रही है. वहां के मंदिरों में जाकर भजन कीर्तन के साथ वृक्षारोपण भी कर रही है.

सिहावा से निकलकर सोमवार को जब यह रथ राजिम और तुरतुरिया पहुंचेगा तो राजिव लोचन मंदिर से आत्मानंद स्कूल तक कलश यात्रा निकाली जाएगी. इसके बाद इस स्कूल में वृक्षारोपण का कार्यक्रम किया जाएगा. साथ ही यहां के लोगों को इस पहल के बारे में जागृत किया जाएगा और भगवान श्री राम के इतिहास और वनवास से जुड़े तथ्यों से माय एफएम टीम अवगत कराएगी.

कार्यक्रम के दौरान राजिम के कई मान्यवर उपस्थित होंगे, जिनमे सुंदर साहू सरपंच, राम कुमार गोस्वामी मंडी अध्यक्ष, कुलेश्वर साहू उपाध्यक्ष नगर पंचायत राजिम, विकास तिवारी सोसायटी अध्यक्ष, गिरीश राजानी, जनभागीदारी अध्यक्ष राजीव लोचन कॉलेज, मनीष दुबे, सुनील तिवारी, अरविंद यादव, पार्षद राजकुमारी, राकेश मांढरे, पार्षद मोती सोनकर, पार्षद विनोद सोनकर, पार्षद रामकुमार साहू, राम नारायण साहू, साधु निषाद, लालचंद मेघवानी अध्यक्ष किराना व्यापारी एवं जिला उपाध्यक्ष कांग्रेसी आदि उपस्थित होंगे.

माय एफएम और छत्तीसगढ़ सरकार आप सभी को इस पहल के माध्यम से छत्तीसगढ़ को और भी करीब से जानने का अवसर दे रही है और यह केवल अवसर नहीं आपके लिए एक यादगार अनुभव भी होने वाला है. ‘राम पथ से राम वन’ के पहल से जुड़ी हर खबर आप लाइव सुनेंगे माय एफएम पर तो आइये इस पवित्र और पावन मुहीम से जुड़ें. इस पहल से जुड़ने और अधिक जानकारी के लिए आप 9827271153 पर संपर्क कर सकते हैं.

इस अभियान के मीडिया पार्टनर लल्लूराम डॉट काम हैं. “राम पथ से राम वन“ के प्रेजेंटेड बाय 94 .3 MYFM एंड छत्तीसगढ़ गवर्नमेंट , सपोर्टेड बाय एटी ज्वेलर्स, श्री गणेशा गुलाल, रामा टीएमटी , छत्तीसगढ़ टूरिज्म बोर्ड एंड स्काई ऑटोमोबाइल्स हैं

Leave a Comment