CG NEWS : ग्रामीण की आत्महत्या पर प्रशासन ने जारी किया जांच प्रतिवेदन, मृतक ने शासन की सभी योजनाओं का लिया था लाभ, नहीं था कोई कर्ज

महासमुंद. बागबहरा विकासखण्ड के छुईया ग्राम पंचायत के रहने वाले मृतक कृषक कन्हैया लाल सिन्हा के संबंध में प्रशासन की ओर से संयुक्त प्रारंभिक जांच प्रतिवेदन प्रेषित किया गया है. जिसमें बताया गया है कि मृतक किसान कन्हैय्या लाल सिन्हा के संबंध में प्रशासन द्वारा संयुक्त प्रारंभिक जांच प्रतिवेदन प्रेषित में बताया गया है कि मृतक किसान कन्हैया लाल के पास सहकारी बैंक में कोई कर्ज नहीं था. उनके पुत्र के नाम पर मात्र 7747 रुपये का कर्ज था जो माफ हो गया है. इसी तरह मृत्तक किसान कन्हैया लाल व उनके पुत्र के नाम पर कुल 2.40 हेक्टेयर जमीन है. वे समर्थन मूल्य पर धान विक्रय करते थे और राजीव गांधी किसान योजना के तहत उन्हें लाभांश भी मिला है. कन्हैया लाल को प्रधानमंत्री आवास योजना का का लाभ भी प्राप्त हुआ है. विदित है कि 27 जुलाई को किसान कन्हैयालाल अपने खेत में मृत पाए गए थे. जिला प्रशासन द्वारा अंतरिम राहत के लिए तत्काल सहयोग राशि के रूप में 20 हजार रुपये नगद कन्हैया लाल के विधिक वारिसानों को दिया गया.

बागबाहरा के अनुविभागीय अधिकारी सृष्टि चंद्राकर ने बताया कि तहसील बागबाहरा अंतर्गत ग्राम छुईहा तेन्दूकोना जिला महासमुन्द निवासी किसान कन्हैय्यालाल सिन्हा पिता बिसाहूराम के मृत्यु की सूचना के संबंध में ग्राम के कोटवार और हल्का पटवारी के माध्यम से प्राप्त होने पर संयुक्त जांच किया गया. जांच अनुसार मृतक कन्हैया लाल सिन्हा पिता बिसाहूराम कन्हैय्यालाल के वारिसान 01 पुत्र भागीरथी 02 पुत्रियां और उनकी पत्नी सहित कुल 04 परिवार है. कन्हैया लाल के नाम से ग्राम छुईडा, प.ह.नं. 10 में कुल 04 खसरा कुल रकबा 1.80 हे. राजस्व अभिलेख में दर्ज है. कन्हैयालाल के पुत्र भागीरथी के नाम से ग्राम छुईहा, प.ह.नं. 10 में ख.नं में कुल 04 खसरा कुल रकबा 0.60 हे भूमि दर्ज है. इस तरह इनके परिवार में कुल 2.40 हेक्टेयर भूमि है.

कन्हैया लाल बीते चार सालों में कुल 226 क्विंटल धान

कन्हैय्यालाल द्वारा नियमित रूप से कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित गुनगासेर पं.क्र. 1370 उर्पाजन केन्द्र मुनगासेर में खरीफ उत्पादन धान का विक्रय किया जाता रहा है. कृषि साख समिति मुनगासेर से प्राप्त जानकारी अनुसार कन्हैया लाल द्वारा बीते चार सालों में कुल 226 क्विंटल धान, कुल 4 लाख 34 हजार 952 रुपये का समर्थन मूल्य पर विक्रय किया गया. इसी तरह उनके पुत्र के नाम से कुल 80.40 क्विंटल धान,41 हजार 616 रुपये का धान विक्रय किया. मृतक कन्हैया लाल द्वारा अपने पुत्र के साथ ज्वाइंट होल्डर लोन एक्सिस बैंक से किसान क्रेडिट कार्ड के अंतर्गत 1 लाख 60 हजार रूपये का लोन सन् 2020 में लिया गया और किसान समर्थ योजना के अंतर्गत 3 लाख रूपये लोन लिया गया.

कन्हैया लाल का सहकारी बैंक में कोई कर्ज नहीं, उनके पुत्र का 7,747 रुपये का ऋण माफ हुआ

राजीव गांधी न्याय योजना से भी मिला38 हजार 916 रुपये का लाभांश

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित शाखा कोमाखान से प्राप्त बैंक स्टेटमेंट के आधार पर मृतक कन्हैया लाल के द्वारा वर्तमान में किसी प्रकार का कर्ज नहीं लिया गया है. इसी प्रकार कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित मुनगासेर पं.क्र. 1370 उर्पाजन केन्द्र मुनगासेर से प्राप्त धान विक्रय पावती पत्रक में उल्लेखित टिप्पणी के आधार पर मृतक कन्हैया लाल के द्वारा किसी प्रकार का कर्ज नहीं लिया गया. जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्या. शाखा कोमाखान से प्राप्त स्टेटमेंट अनुसार कन्हैया लाल सिन्हा को राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ भी प्राप्त हुआ है. उन्हें 2021-22 से कुल चार किश्त 38 हजार 916 रुपये और इस वर्ष का प्रथम किश्त प्राप्त हो चुका है. जबकि उनके पुत्र को पांच किश्तों में 15 हजार 565 रुपये का लाभांश मिला है. कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित मुनगासेर पं.क्र. 1370 उर्पाजन केन्द्र मुनगासेर के अल्पावधी ऋण लेजर के अनुसार 31 नवम्बर 2018 में उनके पुत्र भागीरथी के नाम से 7,747 रु. का लिया गया ऋण माफ हुआ है. शासन द्वारा 31 जुलाई 2018 की स्थिति में लंबित राष्ट्रीकृत और सहकारी बैंक के अल्पकालिक कृषि ऋण को माफ किया गया था. कन्हैया लाल का कर्ज वर्ष 2018 के बाद वर्ष 2020 का है जिसके कारण से कन्हैय्यालाल का कर्ज माफ नहीं हुआ है.

प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ भी मिला खेत मे 2 बोर भी

साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत कन्हैय्यालाल को चारों किस्त कुल 1 लाख 20 हजार रुपये प्राप्त होने की जानकारी हुई है. घर भी पक्का व बड़ा बनाया गया है .कन्हैया लाल के कृषि भूमि में 2 बोर खनन की भी जानकारी प्राप्त हुई है.

Leave a Comment